राजनीति

मालवा-निमाड़ चुनाव परिणाम / आठों सीटों पर भाजपा विजयी, विस चुनाव हारे फिरोजिया साढ़े 3 लाख से ज्यादा मतों से जीते

Deepak Sungra - indoreexpress.com 24-May-2019 01:08 am


मालवा-निमाड़. 17वीं लोकसभा के लिए गुरुवार को हुई मतगणना में भाजपा ने मालवा-निमाड़ की आठों सीटों पर जीत दर्ज की। इंदौर में जहां लालवानी ने रिकार्ड जीत दर्ज की, वहीं विधानसभा चुनाव हार चुके उज्जैन से भाजपा प्रत्याशी अनिल फिरोजिया ने यहां से कांग्रेस प्रत्याशी बाबूलाल मालवीय को 365637 मतों से पराजित किया। इसके अलावा धार, खंडवा, खरगोन, देवास, मंदसौर और रतलाम सीट पर भी भाजपा ने बड़ी जीत दर्ज की। इस बार इन 8 सीटों पर 75.52% वोटिंग हुई थी।
देवास में सोलंकी ने मारी बाजी
देवास संसदीय सीट से भाजपा के महेन्द्र सिंह सोलंकी ने कांग्रेस के प्रहलाद सिंह टिपानिया को 372249 वोट से पराजित किया। सोलंकी को 862429 मत मिले, जोकि कुछ वोटों का 61% मत है, जबकि टीपानिया को 490180 मत मिले, जोकि कुल वोटों का 35% मत है। तीसरे नंबर पर यहां भी बीएसपी रही। उसके प्रत्याशी बद्रीलाल अकेला को 18338 मत मिले, जबकि नोटा में 9034 वोट पड़े। यहां से पहली बार चुनावी मैदान में उतरे सोलंकी ने 2014 के रिकार्ड को तोड़ते हुए बड़ी जीत दर्ज की है। पिछले चुनाव में यहां से भाजपा के मनोहर ऊंटवाल ने 260313 मतों से जीत दर्ज की थी।
उज्जैन में फिरोजिया साढ़े 3 लाख से ज्यादा वोट से जीते
उज्जैन संसदीय सीट से भाजपा के अनिल फिरोजिया ने कांग्रेस के बाबूलाल मालवीय को 364132 वोट से पराजित किया। फिरोजिया को 789411 मत मिले, जाेकि कुछ मत 63%, जबकि मालवीय को 425279 मत मिले, जो कि कुल मत का 34% वोट मिले। वहीं तीसरे नंबर पर रही बहुजन समाज पार्टी के सतीश परमार को 10648 मत मिले। जबकि नोटा में 10180 मत डले। फिरोजिया ने 2014 में भाजपा के चिंतामणि मालवीय के 309663 मतों के रिकार्ड को तोड़ते हुए जीत हासिल की।
रतलाम में भाजपा का परचम लहराया
रतलाम संसदीय सीट पर कांतिलाल भूरिया की क्षेत्र में मजबूत पकड़ को देखते हुए भाजपा ने इस बार वर्तमान विधायक गुमान सिंह डामोर को मैदान में उतारा था। डामोर ही ऐसे विधायक हैं, जिसे प्रदेश से अकेले सांसद का टिकट दिया गया था। गुमान ने पार्टी के भरोसे को कायम रखते हुए कांग्रेस के कांतिलाल भूरिया को 90636 मतों से पराजित किया। गुमान को 696103 मत मिले, जो वोट प्रतिशत का करीब 50 फीसदी जबकि कांतिलाल भूरिया को 605467 मत मिले, जो कि कुल वोट का 43 फीदसी मत है। वहीं मतदाताओं की तीसरी पसंद नोटा रहा, जिसमें 35431 मत डले। इसके अलावा भी तीन प्रत्याशी ऐसे हैं जिन्हें दस हजार से ज्यादा वोट मिले। इसमें भारतीय ट्राइबल पार्टी के कमलेश्वर भील को 14784, बहुजन समाज पार्टी के मधुसिंह पटेल 13753 और निर्दलीय उम्मीदवार रंगला कलेश को 12839 वोट मिले।
15 हजार से ज्यादा लोगों ने दबाया नोटा
2014 के बाद 2019 लोकसभा चुनाव में भी भाजपा ने खंडवा लोकसभा सीट पर जीत का परचम लहराया। भाजपा के नंदकुमार सिंह चौहान ने कांग्रेस के अरुण यादव को 273343 मतों से पराजित कर दिया। पिछले चुनाव में भी चौहान ने यादव को पराजित किया था, लेकिन इस बार जीत का अंतर और ज्यादा रहा। यहां पर तीसरे नंबर पर नोटा रहा। वहीं बीएसपी चौथे नंबर पर रही। भाजपा के नंदकुमार सिंह चौहान और कांग्रेस के अरुण यादव के बीच यहां दूसरी बार टक्कर थी, जिसमें चौहान ने बाजी मारते हुए 838909 मत अर्जित किए, जबकि यादव को 565566 वोट मिले। वहीं 16005 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया। चौथे नंबर पर रही बीएसपी के दयाराम कोरकू को 14888 मत मिले। भाजपा को इस बार 57% जबकि कांग्रेस को 38% वोट मिले।
इंदौर में लालवानी की रिकार्ड जीत
भाजपा का गढ़ कही जाने वाली इंदौर लोकसभा सीट से भाजपा के शंकर लालवानी ने रिकार्ड जीत दर्ज की है। उन्होंने इंदौर से 8 बार सांसद रहीं सुमित्रा महाजन को मिले 466901 मतों के रिकार्ड को तोड़ते हुए कांग्रेस के पंकज संघवी को 547754 मतों से हराया है। लालवानी को कुल 1068569 मिले, जबकि संघवी को 520815 मत मिले। लालवानी की जीत के साथ ही इंदौर को 30 साल बाद पुरुष सांसद मिला।
धार में दरबार ने 53 फीसदी वोट हासिल कर जीत दर्ज की
धार लोकसभा सीट पर एक बार फिर से भाजपा ने जीत का परचम लहराया है। यहां से पिछली बार की सांसद सांवित्री ठाकुर का टिकट काटकर भाजपा ने छतर सिंह दरबार को अपना उम्मीदवार बनाया था। वहीं कांग्रेस ने दिनेश गिरवाल के रूप में नए चेहरे को मौका दिया था। गुरुवार को आए नतीजे भाजपा के पक्ष में रहे और यहां से दरबार ने गिरवाल को 156029 मतों से पराजित किया। दरबार को 722147 मत मिले, जो कि कुल वोट का 53 फीसदी रहा, जबकि कांग्रेस के गिरवाल को 566118 वोट, जो कि कुल वोट का 42 फीसदी मत मिले। यहां से तीसरे नंबर पर नोटा रहा, जिसमें 17929 मत डले। चौथे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी के गुलसिंह रहे, जिन्हें 13827 वोट मिले।
खरगोन में भाजपा को 773550 मत मिले
खरगोन लोकसभा सीट पर भाजपा का परचम 2019 में भी लहराया है। यहां से भाजपा ने सांसद सुभाष पटेल का टिकट काटकर गजेन्द्र पटेल को अपना उम्मीदवार बनाया था। वहीं कांग्रेस ने भी रमेश पटेल की जगह गोविंद मुजाल्दा को मैदान में उतारा था। यहां भाजपा के पटेल ने कांग्रेस के मुजाल्दा को 202510 मतों से पराजित किया। पटेल को 773550 मत मिले जो कि कुल वोट का 54 फीसदी रहा, जबकि मुजाल्दा को 571040 मत मिले जो कि कुल वोट का 40 फीदसी है। यहां पर सीपीआई की ज्योति गोरे तीसरे नंबर पर रहीं। उन्हें 20673 वोट मिले। बहुजन समाज पार्टी के अमित बल्के को 18573 वोट मिले, जबकि चौथे नंबर पर नोटा रहा, जिसमें 18423 मत डले।
गुप्ता ने 2014 में भी नटराजन को हराया था
मंदसाैर लोकासभा सीट पर इस बार भी भाजपा के सुधीर गुप्ता और कांग्रेस की मिनाक्षी नटराजन के बीच मुख्य मुकाबला था। इस मुकाबले में 2014 की ही भांति गुप्ता से नटराजन को पराजित कर दिया। इस बार गुप्ता ने नटराजन को 351734 मतों से हराया। भाजपा को यहां से 822786 वोट जो कि कुल वोट का 61 फीसदी रहा, जबकि कांग्रेस को 471052 मत मिले जोकि कुल वोट का 34 फीसदी है। नोट तीसरे नंबर पर रहा, जिसमें 9431 वोट डले। वहीं चौथे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी के प्रभुलाल मेघवाल रहे, जिन्हें 7760 मत मिले। 2014 में गुप्ता ने नटराजन को 303629 मतों से जीत हासिल की थी।

ताज़ा खबर

अपना इंदौर