ब्रेकिंग न्यूज

राजनीति

आखिर बाबूसिंह रघुवंशी का मकान भी निगम ने तोड़ दिया

Deepak Sungra - indoreexpress.com 14-Feb-2018 03:41 am


इंदौर (सुरेश कपोनिया)।
आज सुबह भाजपा नेता और लघु उद्योग निगम के अध्यक्ष बाबूसिंह रघुवंशी का मकान नगर निगम ने तोड़ दिया। एक तरह से यूं कहे कि रघुवंशी का रसूख ध्वस्त हो गया। नगर निगम ने पूर्व में मकान तोडऩे का प्रयास किया था, मगर रघुवंशी ने अपना पूरा रसूख दिखाया और निगमकर्मी भी डरे रहे। गंगवाल से सरवटे बस स्टैंड के बीच बनने वाले 80 फीट चौड़ी सडक़ में सैकड़ों मकान बाधक थे। बियाबानी चौराहा स्थित मकान को निगम के बुलडोजर और पोकलेन मशीन ने आज सुबह तोड़ा। कार्रवाई के दौरान पुलिस भी मौजूद रही। हालांकि कहीं कोई विवाद की स्थिति नहीं बनी।
रघुवंशी महापौर मालिनी गौड़ के रिश्तेदार भी हैं और राजनीतिक खींचतान के चलते भी उन्होंने नगर निगम की कार्रवाई का पहले विरोध किया था। जब उन्हें लगा कि मकान नहीं बचेंगे तो एक मकान स्वयं ही तोड़ लिया और दूसरे मकान के लिए नगर निगम को कल पत्र लिखा और मांग की कि जेसीबी और पोकलेन मशीन भेजी जाए। भवन अधिकारी को उन्होंने पत्र लिखा था। इस पर कमिश्नर मनीषसिंह ने अधिकारियों को आज कार्रवाई करने के निर्देश दिए और सुबह संसाधन व पुलिस बल के साथ रघुवंशी का बचा हुआ एक मकान तोड़ दिया गया। रघुवंशी ने निगम की कार्रवाई के दौरान काफी विरोध किया था। लेकिन राजनीतिक दखल के बाद उन्हें झुकना पड़ा और सडक़ की चौड़ाई के लिए मकान की बलि देनी पड़़ी। सहायक रिमूवल अधिकारी वीरेन्द्र उपाध्याय ने बताया कि पोकलेन और जेसीबी से एक मकान तोड़ा गया। कहीं कोई विरोध नहीं रहा।
बियाबानी रोड का भी किया था विरोध
गंगवाल से सरवटे के बीच बनने वाली सडक़ की चौड़ाई 80 फीट है। महापौर मालिनी गौड़ ने पहले ही साफ कर दिया था कि सडक़ की चौड़ाई कम नहीं होगी। जो भी मकान बाधक होंगे, वो टूटेंगे। लेेकिन रघुवंशी के रसूख के कारण निगम ने संयुक्त कार्रवाई में मकान छोड़ दिया था और आज रसूख ध्वस्त हो गया अर्थात मकान तोड़ दिया गया। बताया गया है कि बियाबानी रोड के चौड़ीकरण में भी रघुवंशी ने विरोध जताया था। महूनाका से टोरीकार्नर तक यह सडक़ 80 फीट चौड़ा बना है। अब गंगवाल से सरवटे के बीच बनने वाले इस नई सडक़ से शहर के लोगों को और राहत मिलेगी।

ताज़ा खबर

अपना इंदौर